आदि कैलाश का तीसरा दल चौकोङी पहुंचा: यात्रियों ने कहा- उत्तराखंड के कण-कण में शिव का वास

आदि कैलाश का तीसरा दल चौकोङी पहुंचा: यात्रियों ने कहा- उत्तराखंड के कण-कण में शिव का वास





पिथौरागढ़। कुमाऊँ मंडल विकास निगम एवं ट्रिप टू टेंपल्स की सहायता से चल रही आदि कैलाश यात्रा का तृतीय दल का पर्यटक आवास गृह चौकड़ी में जोरदार स्वागत हुआ। कुमाऊं मंडल विकास निगम कर्मचारियों के साथ-साथ राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय बरसात के नन्हे-मुन्ने छात्रों द्वारा टीका एवं माला पहनाकर भव्य स्वागत किया। विद्यालय के अध्यापक केएन पंत द्वारा अपने विद्यालय के नन्हे मुन्ने छात्रों को आदि कैलाश यात्रियों के स्वागत हेतु कुमाऊनी वेशभूषा लहंगा पिछोड़ा पहना कर सांस्कृतिक कार्यक्रम कर यात्रियों का स्वागत किया गया। यात्रियों के स्वागत में प्रबंधक दीपक पंत अध्यापक केएन पंत दीपचंद्र भीम सिंह कपूर सिंह लाल सिंह धन सिंह, प्रकाश, भगवान, दीवान, हरीश एवं नन्हे बाल कलाकार छात्र गौरव दिव्यांशु पवन हिमांशु प्रियांशु दिया सजनी आरुषि हर्षिता इत्यादि थे। इस यात्रा में 40 यात्री एवं दो गाइड है यात्रियों में मुंबई कोलकाता झांसी दिल्ली गुजरात के यात्री थे यात्री दल पाताल भुवनेश्वर के दर्शन करते हुए रात्रि विश्राम हेतु जागेश्वर होते हुए भीमताल में रुकेंगे।

आदि कैलाश यात्रियों ने कहा कि उत्तराखंड देवभूमि है। यहां के कण-कण में भगवान शिव का वास है। चौकोङी में कुमाऊं मंडल विकास निगम के आवास गृह में हुए स्वागत से खुश यात्रियों ने कहा कि पूरी यात्रा में चौकोङी में जो स्वागत हुआ वह तारीफ करने लायक है। कहे कि उत्तराखंड को आदि जागेश्वर, जागेश्वर, बागेश्वर जैसे धामों को भी टूरों में शामिल किया जाना चाहिए। इससे उत्तराखंड के इन क्षेत्रों का विश्व स्तर पर पहचान मिलेगी।

Get in Touch

Have An Enquiry? Write To Us…

No data found
Talk to TTT Expert !